मैं एक मंत्री के रूप में नहीं एक पूर्व सैनिक के तौर पर आता हूं : गणेश जोशी

मैं एक मंत्री के रूप में नहीं एक पूर्व सैनिक के तौर पर आता हूं : गणेश जोशी

श्रमिक मंत्र,देहरादून। देवभूमि पूर्व सैनिक एसोसिएशन के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम को संबोधित करते सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी। सैनिकों के कार्यक्रमो में मैं एक मंत्री के रूप में नहीं एक पूर्व सैनिक के तौर पर आता हूं -गणेश जोशी। प्रदेश के सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी रविवार को हरिद्वार पहुंचे। जहां उन्होंने देवभूमि पूर्व सैनिक कल्याण समिति हरिद्वार के वार्षिकोत्सव कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि प्रतिभाग किया। कार्यक्रम में पूर्व सैनिकों द्वारा सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी का भव्य रूप से स्वागत किया गया। इस अवसर पर मंत्री गणेश जोशी ने वीर नारियों पूर्व सैनिकों को भी सम्मानित किया। कार्यक्रम में स्कूली बच्चों द्वारा दी गई प्रस्तुति के लिए बच्चो को भी पुरुस्कृत किया गया। संबोधन के दौरान सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि मैं सैनिकों के कार्यक्रमों में एक मंत्री के रूप में नहीं बल्कि एक पूर्व सैनिक होने के नाते आता हूं। उन्होंने कहा जब मैं सैनिकों के कार्यक्रम में जाता हूं तो एक परिवार के बीच होने का एहसास होता है। मंत्री जोशी ने कहा मैं किसी भी सैनिकों के कार्यक्रम को नहीं छोड़ता हूं, क्योंकि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी दीपावली सैनिकों के साथ बॉर्डर पर मनाते हैं। इतना ही नहीं, उन्होंने कहा हमारे प्रदेश के मुखिया भी एक सैनिक के बेटे है। मंत्री जोशी ने कहा कि उत्तराखंड में वीरों की भूमि है,देश की रक्षा के लिए सीमा पर खड़ा हर पांचवा सैनिक उत्तराखंड से होता है। उन्होंने कहा आज मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में प्रदेश में सैनिकों पूर्व सैनिकों और उनके आश्रितों के कल्याण अनेक योजनाएं संचालित की है। सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में राज्य में सरकार ने सैनिकों को उनके शौर्य के लिए मिले मेडल के आधार पर राशि को बढ़ाया गया है। परमवीर चक्र पाने वाले बहादुर सैनिक को 30 लाख रूपये से बढ़ाकर 50 लाख रुपये किए गए। मंत्री जोशी ने कहा देहरादून के गुनियालगांव में पांचवे धाम के रूप में भव्य सैन्य धाम का निर्माण किया जा रहा है। जिसका कार्य गतिमान है। उन्होंने कहा निर्माणाधीन सैन्यधाम के लिए प्रदेश के 1734 शहीद सैनिकों के आंगन से कलश में मिट्टी लायी गयी है जिसे यहां बनने वाली अमर जवान ज्योति की नींव में रखा गया है।उन्होंने कहा सैन्य धाम के प्रवेश द्वार का नाम पूर्व सीडीएस जनरल विपिन रावत के नाम से रखा जा रहा है। वहीं प्रांगण में बाबा जसवंत सिंह और हरभजन सिंह का मंदिर भी बनाया जा रहा है। मंत्री जोशी ने कहा सैनिकों के सम्मान और उनके कल्याण के लिए राज्य सरकार वचनबद्ध है। इस अवसर पर मंत्री गणेश जोशी ने सभी पूर्व सैनिकों को वर्सिकोत्सव की बधाई एवं शुभकामनाएं भी दी। इस अवसर पर मंत्री गणेश जोशी ने भूमा पीठाधीश्वर स्वामी अच्युतानंद तीर्थ महाराज जी एवं  निर्मल पंचायती अखाड़े के कोठारी महंत जसविंदर सिंह शास्त्री महाराज जी का आशीर्वाद भी प्राप्त किया। इस अवसर पर ब्रह्म स्वरूप शर्मा, मुकेश कुमार चंदोलिया, विजय शंकर चौबे, दिनेश चंद सकलानी, योगेंद्र पुरोहित, मनोज भट् सहित कई लोग उपस्थित रहे।

One thought on “मैं एक मंत्री के रूप में नहीं एक पूर्व सैनिक के तौर पर आता हूं : गणेश जोशी

Comments are closed.