Home उत्तराखंड अपर मुख्य सचिव ने पेयजल, उच्च शिक्षा, ग्राम्य विकास एवं विद्यालयी शिक्षा...

अपर मुख्य सचिव ने पेयजल, उच्च शिक्षा, ग्राम्य विकास एवं विद्यालयी शिक्षा विभाग से सम्बन्धित मुख्यमंत्री की घोषणाओं की समीक्षा

अपर मुख्य सचिव ने पेयजल, उच्च शिक्षा, ग्राम्य विकास एवं विद्यालयी शिक्षा विभाग से सम्बन्धित मुख्यमंत्री की घोषणाओं की समीक्षा 

अपर मुख्य सचिव आनंद वर्धन ने शुक्रवार को सचिवालय में पेयजल, उच्च शिक्षा, ग्राम्य विकास एवं विद्यालयी शिक्षा विभाग से सम्बन्धित  मुख्यमंत्री की घोषणाओं, कैबिनेट में लिये गये निर्णयों एवं कोविड-19 राहत पैकेज से सम्बन्धित घोषणाओं की समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिये कि विभागीय स्तर पर जिन घोषणाओं एवं परियोजनाओं के संदर्भ में कार्यदायी संस्था का चयन कर लिया गया है, उनके संदर्भ में अविलम्ब आगणन गठित कर शासन को उपलब्ध कराया जाय एवं 15 दिन के अन्दर उक्त के शासनादेश निर्गत करना सुनिश्चित किया जाय। उन्होंने कहा कि विभागीय स्तर पर जिन घोषणाओं एवं परियोजनाओं के आगणन शासन को प्राप्त हो चुके हैं, उनके संदर्भ में एक सप्ताह के अन्दर शासनादेश निर्गत करने की कार्यवाही सुनिश्चित की जाय। अपर मुख्य सचिव ने विभागीय स्तर पर प्रत्येक घोषणा के संदर्भ में परियोजना के टीएसी की संस्कृति का अनुश्रवण किया जाय एवं टीएसी की संस्तुति के आधार पर विभागीय स्तर पर निविदा इत्यादि आमंत्रित करने की कार्यवाही कर ली जाए, जिससे समय की बचत हो, उनके द्वारा यह भी निर्देश दिये गये कि विभागीय स्तर पर अनुबंध की कार्यवाही शासनादेश निर्गत होने के उपरांत कर ली जाय और यह सुनिश्चित कर लिया जाय कि मा0 मुख्यमंत्री घोषणाओं के संदर्भ में प्रत्येक दशा में दिनॉक  15 नवम्बर 2021 तक कार्य प्रारम्भ हो जाए।

पेयजल विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि 14 घोषणाओं के क्रियान्वयन की कार्यवाही जल जीवन मिशन के अन्तर्गत की जा रही है।  21 घोषणाओं का क्रियान्वयन राज्य सैक्टर से किया जाना प्रस्तावित है। 3 घोषणाओं से सम्बन्धित परियोजनाएं चूॅकि बड़ी परियोजनाएं हैं अतः उनके क्रियान्वयन की कार्यवाही ए0डी0बी0 के माध्यम से सुनिश्चित की जा रही हैं तथा 18 घोषणाओं हैण्डपम्प लगाये जाने से सम्बन्धित हैं, जिनके प्रस्ताव वित्त विभाग को संदर्भित हैं।

इस सम्बन्ध में भी अपर मुख्य सचिव द्वारा निर्देश दिये गये कि जल जीवन मिशन तथा राज्य सैक्टर से जिन घोषणाओं का क्रियान्वयन प्रस्तावित है, उनके संदर्भ में समस्त औपचारिकताएं पूर्ण करते हुए दिनॉक 15 नवम्बर, 2021 तक शासनादेश निर्गत करने की कार्यवाही कर दी जायेगी। ए0डी0बी0 के माध्यम से क्रियान्वयन हेतु प्रस्तावित योजनाओं के संदर्भ में विभाग द्वारा प्रभावी अनुश्रवण सुनिश्चित किया जाय। हैण्डपम्प से संबंधित मा0 मुख्यमंत्री घोषणाओं के क्रियान्वयन के संदर्भ में निर्देशित किया गया कि विभाग द्वारा वित्त विभाग की पृच्छाओं का समाधान करते हुए वित्त विभाग से समन्वय कर घोषणाओं के शासनादेश दिनांक 15 नवम्बर 2021 तक निरस्त किये जाने सुनिश्चित किये जाय।

ग्राम्य विकास विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया कि कुल 5 घोषणाओं में सभी के शासनादेश निर्गत किये जा चुके हैं। अपर मुख्य सचिव ने निर्देश दिये कि कोविड-19 राहत पैकेज के अंतर्गत मुख्यमंत्री घोषणा के क्रम में प्रभावी रूप से लाभार्थियों को धनराशि उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित किया जाए एवं उक्त का प्रभावी अनुश्रवण सचिव स्तर पर किया जाय। अपर मुख्य सचिव महोदय ने निर्देश दिये कि ’’महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु मुख्यमंत्री नारी सशक्तिकरण योजना प्रारम्भ की जायेगी’’ के संदर्भ में सर्व संबंधित विभागों से विचार विमर्श कर कार्ययोजना तैयार कर घोषणा का क्रियान्वयन सुनिश्चित किया जाय। विद्यालयी शिक्षा एवं उच्च शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान बताया गया  कि ’’राज्य के राजकीय स्कूलों के कक्षा-10 और कक्षा-12 के छात्र-छात्राओं को निःशुल्क मोबाईल टैबलेट प्रदान किया जायेगा। इन मोबाईल टैबलेटों में सभी शिक्षण सामग्री पहले से लोड रहेगी।’’ सम्बन्धी घोषणा के संदर्भ में विभाग द्वारा अवगत कराया गया कि निविदा प्रक्रिया गतिमान है एवं 10 नवम्बर, 2021 तक निविदा आमंत्रित करने की अंतिम तिथि निर्धारित है। 15 नवम्बर, 2021 तक कार्य आदेश निर्गत कर दिया जायेगा।

अपर मुख्य सचिव द्वारा निर्देश प्रदान किये गये कि टेबलेट का क्रय एवं आपूर्ति होने के उपरांत उनके वितरण की समुचित एवं प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित की जाय।  ’’600 अतिरिक्त विद्यालयों में वर्चुअल क्लास की व्यवस्था की जायेगी।’’ सम्बन्धी घोषणा के संदर्भ में विभाग द्वारा अवगत कराया गया कि उक्त घोषणा का क्रियान्वयन समग्र शिक्षा अभियान के अन्तर्गत प्राविधान मद में उपलब्ध धनराशि से सुनिश्चित किया जा रहा है। उक्त के अन्तर्गत देहरादून में स्टेडियम की स्थापना की जायेगी। अपर मुख्य मुख्य सचिव द्वारा उक्त के संदर्भ में अविलम्ब शासनादेश निरस्त करते हुए घोषणा के क्रियान्वयन के निर्देश प्रदान किये गये। ’’प्रत्येक विद्यालय में बालिकाओं के लिए अलग शौचालय की व्यवस्था की जायेगी।’’ में विभाग द्वारा अवगत कराया गया कि सम्प्रति उक्त हेतु आगणन प्राप्त हो गया है एवं क्रियान्वयन हेतु धनराशि रू0 10.00 करोड़ की आवश्यकता है, पुनर्विनियोग के माध्यम से धनराशि की स्वीकृति का प्रस्ताव वित्त विभाग को संदर्भित किया गया है। अपर मुख्य सचिव महोदय द्वारा निर्देशित किया गया कि वित विभाग से अनुरोध कर दिनॉक 15 नवम्बर 2021 तक धनराशि स्वीकृति की कार्यवाही सुनिष्चित की जाय। इस अवसर पर सचिव एस0ए0 मुरूगेषन, बी0वी0आर0सी0 पुरूषोत्तम, सचिव (प्रभारी)  दीपेन्द्र कुमार चौधरी, अपर सचिव  एम0एस0बिष्ट, मुख्य अभियन्ता, पेयजल विभाग एस0ई0 पन्त, विशेष कार्याधिकारी, मा0 मुख्यमंत्री  आर0सी0शर्मा, उपसचिव  हीरा सिंह बसेड़ा आदि उपस्थित थे।

देहरादून से श्रमिक मंत्र संवाददाता मोनू राजवान की रिपोर्ट

RELATED ARTICLES

बीजेपी के पूर्व महिला विधायक ने कहा- 2 करोड़ में बिका है विधानसभा की टिकट

बीजेपी के पूर्व महिला विधायक ने कहा- 2 करोड़ में बिका है विधानसभा की टिकट भाजपा से टिकट कटने पर मुन्नी देवी शाह हुई नाराज,...

बीजेपी ने आज उत्तराखंड की 59 विधानसभा सीटों पर प्रत्याशियों की लिस्ट कर दी जारी 

भाजपा ने आज उत्त्तराखण्ड की 59 विधानसभा सीटों पर प्रत्याशियों की कर दी जारी खटीमा से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी । हरिद्वार से मदन कौशिक,...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

बीजेपी के पूर्व महिला विधायक ने कहा- 2 करोड़ में बिका है विधानसभा की टिकट

बीजेपी के पूर्व महिला विधायक ने कहा- 2 करोड़ में बिका है विधानसभा की टिकट भाजपा से टिकट कटने पर मुन्नी देवी शाह हुई नाराज,...

बीजेपी ने आज उत्तराखंड की 59 विधानसभा सीटों पर प्रत्याशियों की लिस्ट कर दी जारी 

भाजपा ने आज उत्त्तराखण्ड की 59 विधानसभा सीटों पर प्रत्याशियों की कर दी जारी खटीमा से मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी । हरिद्वार से मदन कौशिक,...