उद्यमी से उद्योगपति बनने की सोच को साकार बनाने पर विशेषज्ञों ने किया मार्गदर्शन

उद्यमी से उद्योगपति बनने की सोच को साकार बनाने पर विशेषज्ञों ने किया मार्गदर्शन
श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय में दो दिवसीय स्टार्टअप बूट कैंप का आयोजन
आई.आई.एम. काशीपुर व उद्योग निदेशालय, उत्तराखण्ड सरकार के सहयोग से आयोजित हुआ कार्यक्रम

श्रमिक मंत्र,देहरादून। इनोवेशन एवं इनक्यूबेशन सेंटर,श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय और आई.आई.एम. काशीपुर के सहयोग से दो दिवसीय (28 फरवरी-1 मार्च, 2023) स्टार्टअप बूट कैंप का आयोजन किया गया। विशेषज्ञों ने छात्र-छात्राओं जानकारी दी कि वे नए उद्यम व उद्योग किस प्रकार शुरू कर सकती हैं। उन्हें शुरू करने में राज्य सरकार की बहुउद्देशीय योजनाएं मील का पत्थर साबित हो सकती हैं। श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय परिसर में उत्तराखंड स्टार्टअप, उत्तराखण्ड सरकार द्वारा प्रायोजित बूट कैंप का उद्घाटन मुख्य अतिथि एस.सी. नौटियाल, निदेशक उद्योग, उत्तराखण्ड सरकार व डॉ उदय सिंह रावत, कुलपति श्री गुरु राम राय विश्वविद्यालय ने संयुक्त रूप से किया। मुख्य अतिथि एस.सी. नौटियाल अपने उद्बोधन में उत्तराखण्ड सरकार द्वारा विभिन्न स्टार्टअप योजनाओं के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि विद्यार्थियों को नये स्टार्टअप अवसरों को खोजने और उन पर कार्य करने लिए पहल करनी होगी। बाजार की वर्तमान मांग के अनुरूप राज्य सरकार की कई योजनाएं प्रचलित हैं। युवा उन योजनाओं का लाभ लेकर रोजगार के स्वर्णिम अवसरों पर काम कर सकते हैं।


विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.डाॅ उदय सिंह रावत ने भी विद्यार्थियों को स्टार्टअप की महत्तवता को विस्तारपूर्वक समझाया। कुलसचिव प्रो.डाॅ अजय कुमार खण्डूड़ी ने उत्तराखंड सरकार और आई.आई.एम. काशीपुर के सहयोग को सराहनीय कदम बताया और विद्यार्थियों को स्टार्टअप के माध्यम से स्वरोजगारों के सृजन के लिए प्रोत्साहित किया। इस अवसर पर राजेश जैन, फाउन्डर शिल्प स्टोर ने अपनी स्टार्टअप यात्रा से विद्यार्थियों को स्टार्टअप के लिए प्रोत्साहित किया। प्रो.डाॅ रचिता गुप्ता, आई.आइ.एम. काशीपुर ने विद्यार्थियों को विभिन्न स्टार्टअप विचारों के क्रियान्वयन की रूपरेखा को साझा किया।
राम कुमार मैनेजर, एफ.आई.ई.डी., आई.आई.एम. काशीपुर ने विद्यार्थियों को नये विचारों को स्टार्टअप में परिवर्तित करने के तरीकों से अवगत कराया। सिद्धार्थ गुप्ता, इन्डियन हैम्प स्टोर, उत्तराखण्ड स्टार्टअप से श्री राजेन्द्र सिंह, उप निदेशक, अंजनी रावत, जनरल मैनेजर, उद्योग निदेशालय, उत्तराखण्ड सरकार उपस्थित थे। विश्वविद्यालय के आई.आई.सी. के निदेशक प्रो.डाॅ द्वारिका प्रसाद मैठाणी ने धन्यवाद ज्ञापन दिया। उन्होंने जानकारी दी कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य था कि स्टार्ट अप कैंप के माध्यम से स्टार्ट अप करने वाले छात्र छात्राएं मिल सकें, सामूहिक प्रयास से यह उद्देश्य सफल रहा। विश्वविद्यालय के आई0आई0सी0 निदेशक प्रो. डाॅ द्वारिका मैठानी,प्रमुख समन्वयक डाॅ पंकज चमोली, समन्वयक डॉ. दीपिका जोशी ने इस कार्यक्रम में प्रमुख भूमिका निभाई। इस अवसर पर डाॅ पूजा जैन,डॉ मीनू चौधरी, डॉ विपुल जैन,डाॅ अलका एन चौधरी,डाॅ कुमुद सकलानी,डाॅ आर.पी.सिंह, मनोज तिवारी, गणेश डबराल,वंशिका गैरोला,कृति सैनी,दीपांशु भट्ट आदि गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

One thought on “उद्यमी से उद्योगपति बनने की सोच को साकार बनाने पर विशेषज्ञों ने किया मार्गदर्शन

Comments are closed.